कुंवर चैनसिंग की समाधी

दिशा
श्रेणी ऐतिहासिक

कुंवर चैन सिंह की समाधी : कुंवर चैनसिंह समाधी सीहोर – इंदौर रोड पर लोटिया नदी के तट पर दशहरा वाला मैदान में 2 किमी दूर हैं। ये समाधियां नरसिंहगढ़ स्टेट के देशभक्त युवराज चैनसिंह और ब्रिटिश पोलिटिकल मिस्टर मंशांक के बीच की ऐतिहासिक लड़ाई की याद दिलाते हैं। सन 1824 में सर्वप्रथम नरसिंह ग्रह के युवराज चैनसिंह द्वारा अंग्रेजो के विरुद्ध बगावत की , अंग्रेज सेना और क्रांतिकारियों के बीच सीहोर में युद्ध हुवा जिसमे कुंवर चैन सिंह बहादुरी से लड़ते हुवे अपने साथियो के साथ इसी स्थान पर शहीद हुवे थे। शासन द्वारा प्रति वर्ष जुलाई माह में इनके सम्मान में कार्यक्रम आयोजित कर गार्ड ऑफ़ ऑनर दिया जाता है।

फोटो गैलरी

  • कु चैनसिंह
  • कु चैनसिंह

कैसे पहुंचें:

वायु मार्ग

राजा भोज एयर पोर्ट भोपाल से 35 कि. मी.

ट्रेन द्वारा

सीहोर रेलवे स्टेशन उज्जैन-भोपाल लाइन पर स्थित है। दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, अहमदाबाद, जयपुर, कानपुर, नागपुर, जम्मू, पुरी और अन्य प्रमुख शहरों के लिए नियमित ट्रेनें हैं।

सड़क मार्ग

भोपाल से 35 किलोमीटर , इंदौर - भोपाल राज्य मार्ग पर स्थित है।